रेप मामलों में अन्य राज्यों में कब जाएंगे राहुल गांधी- संबित पात्रा

नई दिल्ली. देश की राजधानी नई दिल्ली के नांगल गांव में नाबालिग बच्ची की कथित रेप के बाद हत्या के मामले में पीड़ित परिवार न्याय की मांग कर रहा है। जिस जगह पर पीड़ित परिवार विरोध कर रहा है, वहां आज राहुल गांधी भी पहुंचे। भाजपा के नेता संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर मामले में राजनीति करने का आरोप लगाया है। संबित पात्रा ने कहा कि रेप के मामलों में अगर राजनीति करने की कोशिश की जाए तो यह राजनीति का सबसे न्यूनतम स्तर होता है। संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर कांग्रेस शासित राज्यों में हो रहे अपराधों पर चुप्पी साधने का आरोप लगाया है।

संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि बलात्कार बहुत दुखद घटना होती है, जितनी भी इसकी निंदा की जाए वह कम है, दिल्ली में नांगल राय में जिस तरह से एक नन्हीं बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ है, हम उसकी घोर निंदा करते हैं, कानून व्यवस्था पूरी तरह इसपर सजग होकर काम कर रही है। इस मामले में 4 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। 2 अगस्त को SC कमिशन  पीड़िता के घर गया था। ज्वाइंट सीपी पुलिस भी पीड़िता के घर गए थे। कानून अपना काम कर रहा है। इसमें कोई दो मत नहीं है कि पीड़िता और उनके परिवार को न्याय मिले और न्याय अवश्य मिलेगा। 

उन्होंने राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा, “रेप के मामलों में अगर राजनीति करने की कोशिश की जाए तो यह राजनीति का सबसे न्यूनतम स्तर होता है, विषय को आगे बढ़ाए इसपर कोई आपत्ति नहीं, मगर सिलेक्टिव होकर किसी राज्य में हुए रेप पर विषय पर चिंता प्रकट करना और किसी राज्य में नहीं करना, यह देखते हुए कि किस राज्य में किसकी सरकार है, यह भी अपने आप में जघन्य अपराध है, रेप रेप होता है, चाहे दिल्ली में हो चाहे राजस्थान में चाहे छत्तीसगढ़ में या फिर चाहे महाराष्ट्र में, अगर इसमें किसी प्रकार का मतभेद किया जाए कि कांग्रेस शासित राज्य के बलात्कार के विषय में और वहां जो राजस्थान छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र में दलित बच्चियों हैं वहां की चिंता नहीं करेंगे लेकिन दिल्ली की चिंता करेंगे तो मन में सवाल तकलीफ होती है और कुछ सवाल भी जगता है।”

संबित पात्रा ने आगे कहा कि कल भी राहुल गांधी ने ट्वीट किया, दलित की बच्ची हिंदुस्तान की बेटी है उसको न्याय मिलना चाहिए, इसमें कोई दो मत नहीं है। किंतू राजस्थान, छत्तीसगढ़, पंजाब में दलित की बेटी क्या हिंदुस्तान की बेटी नहीं है। क्या हम हिंदुस्तान को भी सरकार और राजनीति के हिसाब से बांटकर दलित की राजनीति को आगे बढ़ाएंगे। राजस्थान कांग्रेस शासित राज्य है, एनसीआरबी के हिसाब से राजस्थान देश का पहला राज्य है जहां पर सबसे ज्यादा बलात्कार हुए हैं। 6 महीनों में 30 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है, 2020 में 13750 दुष्कर्म के मामले राजस्थान में हुए। कोरोना काल में इस प्रदेश में बलात्कार की घटनाओं में 38 प्रतिशत बढ़ा है। उन्होंने आरोप लगाया कि कोरोना काल में किस प्रकार एक पीड़िता अन्न मांगने गई थी और उस महिला के साथ दुष्कर्म किया गया। 

उन्होंने आगे कहा कि गहलोत सरकार ने विधानसभा में जबाव दिया था कि दलित महिलाएं रेप के झूठे मामले दर्ज कराती हैं। विधानसभा के पटल पर उन सभी संगठनों पर भी सवाल उठाया गया था जो दलितों के अधिकार की बात करते हैं।  26 जनवरी नागौर में दलित महिला के साथ रेप का मामला सामने आया, क्या राहुल गांधी ने ट्वीट किया या उस महिला के घर गए, नहीं। पात्रा ने आगे कहा कि अजमेर के रामगंज थाना का विषय है, एक दलित महिला अपने ससुराल जा रही थी और रास्ते में रोककर उनके साथ दुष्कर्म किया, राहुल गांधी ने आवाज नहीं उठाई। 25 जुलाई को मामला सामने आया कि राजस्थान में बाड़मेर में दलित बाप बेटे के हाथ पैर तोड़े गालियां दी और पेशाब पिलाया गया, राहुल गांधी एक दिन भी उनके घर नहीं गए।

Show More

Related Articles

Back to top button