हम दिल्ली पुलिस के रूट पर नहीं, बल्कि अपने रूट पर मार्च निकालेंगे हम बाहरी रिंग रोड पर जाएंगे : किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने बैरिकेड तोड़ दिए है. इसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े है. इसके साथ ही किसानों पर लाठीचार्ज किया गया है. दरअसल, अक्षरधाम से पहले एनएच 24 पर पुलिस ने बैरिकेडिंग की हुई थी, लेकिन कुछ किसानों के जत्थे ने ट्रैक्टरों के साथ कुछ बैरिकेडिंग को तोड़कर दिल्ली की तरफ घुसने की कोशिश की तो पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया. किसानों को वहां से खदेड़ा गया है.

किसान मजदूर संघर्ष समिति (KMSC) के अध्यक्ष सतनाम सिंह पन्नू ने कहा कि हम दिल्ली पुलिस के रूट का नहीं, बल्कि अपने रूट पर मार्च निकालेंगे. हमने दिल्ली पुलिस को 45 मिनट दिए हैं. हमने उन्हें बताया है कि हम बाहरी रिंग रोड पर जाएंगे, अब दिल्ली पुलिस को देखना है.

सिंघु बॉर्डर से ट्रैक्टर परेड निकल चुकी है. इस परेड में खन्ना के किसान हरमिंदर सिंह द्वारा एक झांकी भी बनाई गई है. इस झांकी में साइकिल पर कैनन को दिखाया गया है. हरमिंदर सिंह का कहना है कि यह हमारा गौरव है और देश की रक्षा के लिए किसान सेना में सेवा देते हैं, इसलिए हमने साइकिल पर युद्ध तोप की प्रतिकृति बनाई.

नोएडा के सेक्टर 14 ए चिल्ला बॉर्डर पर स्टंट के दौरान हादसा हुआ है. दरअसल, ट्रैक्टर मार्च के दौरान कुछ किसान स्टंट कर रहे थे. ट्रैक्टर का संतुलन बिगड़ा और पलट गया. ट्रैक्टर पलटने से महानगर अध्यक्ष राजीव नागर घायल हो गए. मौके पर मौजूद सैकड़ों की संख्या में किसानों ने ट्रैक्टर को सीधा किया और महानगर अध्यक्ष को बाहर निकाला.

सिंघु बॉर्डर से किसानों का ट्रैक्टर मार्च शुरू हो गया है. बार-बार दिल्ली पुलिस की ओर से किसानों से नियमों का पालन करने की अपील की जा रही है. इसके साथ ही रूट के बारे में बताया जा रहा है. किसानों को राजीव गांधी ट्रांसपोर्ट पर रोक दिया गया है.

Show More

Related Articles

Back to top button