पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की बेटी बख्तावर भुट्टो जरदारी की 27 नवंबर को सगाई

पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो और पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की बेटी बख्तावर भुट्टो जरदारी की 27 नवंबर को सगाई होने वाली है। बिलावल हाउस की तरफ से इसके लिए मेहमानों को निमंत्रण कार्ड भेजे जा चुके हैं। इसमें कहा गया है कि पूर्व राष्ट्रपति की बेटी की सगाई अमेरिका के व्यवसायी यूनुस चौधरी के बेटे महमूद चौधरी के साथ होने वाली है।

पाकिस्तान में होने वाले इस समारोह को लेकर तैयारियों को पूरा कर लिया गया है। सगाई से एक दिन पहले मेहमानों को अपनी कोरोना जांच करवानी होगी और रिपोर्ट को बिलावल हाउस को भेजना होगा। पाकिस्तान के अखबार द ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, कार्यक्रम स्थल पर कोरोना से जुड़े सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा। इसके मद्देनजर निगेटिव कोरोना रिपोर्ट आने पर ही मेहमानों को सगाई समारोह में हिस्सा लेने की अनुमति दी जाएगी।

कराची के बिलावल हाउस में होने वाले इस सगाई समारोह में मौजूद किसी भी मेहमान को तस्वीर लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके अलावा कार्यक्रम स्थल में मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं होगी। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के मीडिया सेल ने एक बयान में कहा है कि पार्टी अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी ने घोषणा की है कि अल्लाह के करम से उनकी और शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो की बेटी बख्तावर भुट्टो जरदारी की 27 नवंबर को महमूद चौधरी के साथ सगाई होगी।

महमूद चौधरी अमेरिका के व्यवसायी यूनुस चौधरी के बेटे हैं। उनका पूरा परिवार अमेरिका में रहता है। बता दें कि बख्तावर भुट्टो पाकिस्तान में आवाम की आवाज को प्रमुखता से उठाती रही हैं। उन्होंने रमजान के महीने में पानी पीने की सजा देने को पाखंड बताया था। इसके बाद कट्टरपंथियों ने उनकी काफी आलोचना की थी। उन्हें कई तरह की धमकियां भी दी गई थीं। उन्होंने कहा था कि आतंकी खुलेआम घूम रहे हैं और लोगों को सजा दी जा रही है।

Show More

Related Articles

Back to top button