जम्‍मू-कश्‍मीर DDC चुनाव : बीजेपी का हौसला बुलंद

जम्‍मू-कश्‍मीर में जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव के पहले चरण की 43 सीटों पर मतदान जारी है. इसके साथ ही पंचायत उपचुनावों के लिए भी मतदान हो रहे हैं. चुनाव के लिए सभी तैयारियां चाक-चौबंद हैं. 28 नवंबर से शुरू होने वाली यह चुनाव प्रक्रिया 19 दिसंबर तक चलेगी.

कुल आठ चरणों में वोट डाले जाएंगे, जबकि 22 दिसंबर को मतगणना होगा. इस चरण के मतदान से 1,475 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होना है. मतदान की प्रक्रिया शनिवार सुबह 7 बजे से शुरू होकर दोपहर 2 बजे तक चलेगी. जम्मू-कश्मीर में साल 2019 में अनुच्छेद 370 निरस्त किया गया था. इसके बाद यह पहला चुनाव है. विपक्षी पार्टियां अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने का विरोध कर रही हैं और इसे फिर से लागू करने की बात कर रही हैं.  

 जम्मू-कश्मीर में सुबह 11 बजे तक 22.127 प्रतिशत वोटिंग हो चुकी है. मतदान 2 बजे तक चलेगा. 

जम्मू-कश्मीर में चुनाव आयुक्त केके शर्मा ने कहा कि शनिवार को डीडीसी चुनावों का पहला चरण है और खाली पड़ी पंचायत सीटों के लिए भी उपचुनाव हो रहे हैं. इस चुनाव में करीब 7 लाख मतदाता अपने लोकतांत्रिक अधिकार का प्रयोग करेंगे.

उन्होंने कहा था कि पहले चरण के लिए होने वाले मतदान को लेकर सभी तरह की व्यवस्थाएं कर ली गई हैं. डीडीसी के 43 निर्वाचन क्षेत्रों में शनिवार को मतदान कराए जाएंगे. 43 निर्वाचन क्षेत्रों में से कुल 296 उम्मीदवार मैदान में हैं. मतदान  सुबह 7 बजे से शुरू हो गया है जो दोपहर 2 बजे तक चलेगा. चुनाव आयोग ने बताया था कि 43 में से 25 निर्वाचन क्षेत्र कश्मीर घाटी में और 18 जम्मू क्षेत्र में हैं. जम्मू से 124 और कश्मीर से 172 उम्मीदवार, चुनावी मैदान में हैं.

इन चुनावों में कुल 1,475 उम्मीदवार मैदान में हैं और सात लाख मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे.  राज्य चुनाव आयुक्त केके शर्मा ने बताया कि पहले चरण में सुचारू रूप से मतदान के लिए 2,146 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. इन सात लाख मतदाताओं में से कश्मीर संभाग में 3.72 लाख मतदाता हैं और जम्मू संभाग में 3.28 लाख मतदाता हैं. 

उन्होंने बताया कि केंद्र शासित क्षेत्र में जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव के लिए कुल 280 निर्वाचन क्षेत्र हैं. चुनाव आयुक्त ने कोविड-19 के मद्देनजर लोगों से अपील की है कि वे चुनाव आयोग की ओर से जारी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए मतदान केंद्र पर मास्क पहनें और सामाजिक दूरी का पालन करें. 

वहीं जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेता सैय्यद अली शाह गिलानी ने डीडीसी चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया है. उन्होंने जम्मू-कश्मीर के लोगों से भी चुनाव का बहिष्कार करने की मांग की है.

जम्मू-कश्मीर के लोगों को संबोधित करते हुए सैय्यद अली शाह गिलानी ने कहा कि ऐसे समय जब हम आजादी की लड़ाई लड़ रहे हैं, इसी दौरान डीडीसी के चुनाव कराए जाए रहे हैं. जो भी लोग या राजनीतिक पार्टियां इस चुनाव में हिस्सा ले रही हैं वो स्वतंत्रता के लिए जारी आंदोलन के खिलाफ हैं. 

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में पहली बार हो रहे जिला विकास परिषद चुनाव के लिए पहले चरण में शनिवार को मतदान जारी है.  डीडीसी चुनाव के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर में खाली पड़े सरपंचों और पंचों के चुनाव भी हो रहे हैं. 

Show More

Related Articles

Back to top button